#मजद

306 posts tagged with #मजद

Photos and Videos about #मजद

#किसानों #मजदूरों_के_मसीहा -रहबर-ऐ-आजम,दीनबंधु सर छोटूराम(गृहमंत्री,संयुक्त पंजाब) की जयंती पर कोटि-कोटि नमन करते हैं..! "ऐ किसान तू ऐसा न समझ कि तू कुछ भी नहीं है।तेरे भीतर पहाड़ की मजबूती छिपी हुई है,तूफान की तेजी वास करती है,बाढ़ की ताकत छिपी हुई है,नदी का वेग छुपा हुआ है और सूरज का प्रकाश लुका हुआ है....,तू ही पीर व मुरीद,गुरु और बन्दा, स्वामी और चेला,मालिक व दास, शासक व शासित,सब कुछ तू ही है पर तेरी हीन भावना व हीन विचारों ने तेरा बेड़ा गर्क कर रखा है।तू जाग,उठ,आवाज बुलंद कर और हुंकार भर।मैं तुझे बेचारा नहीं रहने दूंगा।"

Sushila Verma
(@sushila_prakash)

7 Days 12 Hours Ago

अहरौरा में आम आदमी पार्टी के कार्यालय का उद्घाटन एक आम आदमी #मजदूर के हाथों द्वारा किया गया।।

Naren Dagar
(@narenderdagar782)

9 Days 20 Hours Ago

#प्यार से ज्यादा #पैसे का💰💷 #महत्व है दोस्तो... 😉 कभी #सुना है....👂 #लडकियों को👩 #सपने मे #मजदूर👨 दिखा 😂😂😂 #राजकुमार👼 ही #दिखता 👀 है हमेशा...!! 😜😜

Sonu Rao
(@sonu_yadav7454)

11 Days 18 Hours Ago

#आज बेरन नू बोली अंक #तू इतनी अच्छी #पोस्ट करे है #सोचूँ हुँ #ताजमहल के #मजदूरां की #तरियाँ #तेरी बी उँगलियाँ #कटवा दूँ Love sonu rao

*#positive #attitude* एक घर के पास काफी दिन से एक बड़ी इमारत का काम चलj रहा था। वहां रोज #मजदूरों के छोटे-छोटे #बच्चे एक दूसरे की शर्ट पकडकर रेल-रेल का #खेल खेलते थे। रोज कोई बच्चा इंजिन बनता और बाकी बच्चे डिब्बे बनते थे... इंजिन और डिब्बे वाले बच्चे रोज बदल जाते, पर... केवल चङ्ङी पहना एक छोटा बच्चा हाथ में रखा कपड़ा घुमाते हुए रोज गार्ड बनता था। *एक दिन मैंने देखा कि* ... उन बच्चों को खेलते हुए रोज़ देखने वाले एक #व्यक्ति ने कौतुहल से गार्ड बनने वाले बच्चे को पास बुलाकर पूछा.... "बच्चे, तुम रोज़ गार्ड बनते हो। तुम्हें कभी इंजिन, कभी डिब्बा बनने की इच्छा नहीं होती?" इस पर वो बच्चा बोला... "#बाबूजी, मेरे पास पहनने के लिए कोई #शर्ट नहीं है। तो मेरे पीछे वाले बच्चे मुझे कैसे पकड़ेंगे... और मेरे पीछे कौन खड़ा रहेगा....? इसीलिए मैं रोज गार्ड बनकर ही खेल में #हिस्सा लेता हूँ। "ये बोलते समय मुझे उसकी #आँखों में पानी दिखाई दिया। आज वो बच्चा मुझे #जीवन का एक बड़ा #पाठ पढ़ा गया... *अपना जीवन कभी भी #परिपूर्ण नहीं होता। उसमें कोई न कोई #कमी जरुर रहेगी....* वो बच्चा #माँ-बाप से ग़ुस्सा होकर रोते हुए बैठ सकता था। परन्तु ऐसा न करते हुए उसने #परिस्थितियों का समाधान ढूंढा। हम कितना रोते हैं? कभी अपने साँवले रंग के लिए, कभी #छोटे क़द के लिए, कभी पड़ौसी की बडी कार, कभी पड़ोसन के गले का हार, कभी अपने #कम मार्क्स, कभी #अंग्रेज़ी, कभी #पर्सनालिटी, कभी #नौकरी की मार तो कभी धंदे में मार...हमें इससे बाहर आना पड़ता है.... *ये जीवन है... इसे ऐसे ही #जीना पड़ता है।* *चील की ऊँची उड़ान देखकर चिड़िया कभी डिप्रेशन में नहीं आती,* *वो अपने आस्तित्व में मस्त रहती है,* *मगर इंसान, #इंसान की ऊँची उड़ान देखकर बहुत जल्दी चिंता में आ जाते हैं।* *तुलना से बचें और खुश रहें*। *ना किसी से ईर्ष्या , ना किसी से कोई होड़..!!!* *मेरी अपनी हैं मंजिलें , मेरी अपनी दौड़..!!!* *"परिस्थितियां कभी #समस्या नहीं बनती,* *समस्या इस लिए बनती है, क्योंकि हमें उन परिस्थितियों से #लड़ना नहीं आता।"* ¸.•*""*•.¸ ?????

DeEp JaAt
(@ladla_.jaat)

16 Days 15 Hours Ago

#आज बेरन नू बोली अंक #तू इतनी अच्छी #पोस्ट करे है #सोचूँ हुँ #ताजमहल के #मजदूरां की #तरियाँ #तेरी बी उँगलियाँ #कटवा दूँ SiDh. JaAt

Tejas Patel
(@tej_ptl_3_7)

20 Days 21 Hours Ago

#मजदूर #tejkidiaryse✒ એક દિવસ પેલા રાત્રે 12.30 વાગ્યે હું સુવા માટે ઘરે આવ્યો ત્યારે પણ મજૂર લોકો કામ કરતા હતા. તો એમને જોઈને મન માથી થોડા શબ્દ આવ્યા એ લખ્યા છે.. @tej_ptl_3_7

मजदूर किसान को कोई अगर दाऊ महाजन या सेठ कहे तो वो बहुत खुश हो जाता है और यदि दाऊ महाजन या सेठ को कोई #मजदूर किसान कह दे तो 😈

sumit dahiya
(@dahiyasumit080)

27 Days 13 Hours Ago

#आज बेरन नू बोली अंक #तू इतनी अच्छी #पोस्ट करे है #सोचूँ हुँ #ताजमहल के #मजदूरां की #तरियाँ #तेरी बी उँगलियाँ #कटवा दूँ

#दिल तु भी तो #एक #मजदुर ही है जो #यादो की #गुलामी मे कभी #आजाद न हो #पाया #anamika

#प्यार से ज्यादा #पैसे का💰💷 #महत्व है दोस्तो... 😉 कभी #सुना है....👂 #लडकियों को👩 #सपने मे #मजदूर👨 दिखा 😂😂😂 #राजकुमार👼 ही #दिखता 👀 है हमेशा...!! 😜😜

Amit dahiya
(@amy_dhiya)

2017-10-17 20:07:31

#प्यार से ज्यादा #पैसे का💰💷 #महत्व है दोस्तो... 😉 कभी #सुना है....👂 #लडकियों को👩 #सपने मे #मजदूर👨 दिखा 😂😂😂 #राजकुमार👼 ही #दिखता 👀 है हमेशा...!! 😜😜

👍#जिंदगी #मजदूर हुई जा रही है..? और लोग "#साहब" कहकर #ताने मार रहे है.....!!👆 ....# Vikram Banna

Devi Prasad Tiwari
(@dptiwaribjp)

2017-10-14 02:44:40

#मजदूरों और #किसानों के कल्याण की योजना बनाने वाले एवं #भारतीय मजदूर #संघ की स्थापना करने वाले दूरदर्शी तत्वचिंतक श्री #दत्तोपन्त_ठेंगड़ी जी की #पुण्यतिथि पर कोटि कोटि नमन

Pulkit
(@pulkit_pulkit)

2017-10-12 03:55:37

अरे पगली मेरे #प्यार भरे StAtUs सबको #forward न किया कर थोङा सनकी हूँ.. #ताजमहल के #मजदूरों की तरह तेरी #उंगलियाँ भी कटवा दूँगा

#मनुसमृती -----#himachal #election #इन #घटगिंतियों को #भूखा #मार दो #ताकी #यह #घुटने #टेक दें #ओर #ज्जब #होजायें #हिन्दुत्व #में #निशाने पर #व्यापारीवर्ग #मजदूरवर्ग #सेल्फइंपलोयेड #सप्ताहमारकेट #रेड़ीवाले #अब #नागपुर #डेरा #प्रफूल्लित #होगा ????

Shubham Bagga NSUI
(@imbaggan786)

2017-10-10 10:44:16

उत्तरी हरियाणा में #किसानों, #मजदूरों, #दलितों की आवाज़ उठाई है तो वो चौधरी निर्मल सिंह है चौधरी साहब के साथ हम हमेशा चलेंगे। चौधरी निर्मल सिंह ज़िंदाबाद. 💪💪💪

Jyoti Yadav
(@jyotiyadav94)

2017-10-08 22:47:33

When you are sleepy AF but you have office to go. 😣 #coroperatelife #दिहाड़ी #मजदूरी

*#positive #attitude* एक घर के पास काफी दिन से एक बड़ी इमारत का काम चलj रहा था। वहां रोज #मजदूरों के छोटे-छोटे #बच्चे एक दूसरे की शर्ट पकडकर रेल-रेल का #खेल खेलते थे। रोज कोई बच्चा इंजिन बनता और बाकी बच्चे डिब्बे बनते थे... इंजिन और डिब्बे वाले बच्चे रोज बदल जाते, पर... केवल चङ्ङी पहना एक छोटा बच्चा हाथ में रखा कपड़ा घुमाते हुए रोज गार्ड बनता था। *एक दिन मैंने देखा कि* ... उन बच्चों को खेलते हुए रोज़ देखने वाले एक #व्यक्ति ने कौतुहल से गार्ड बनने वाले बच्चे को पास बुलाकर पूछा.... "बच्चे, तुम रोज़ गार्ड बनते हो। तुम्हें कभी इंजिन, कभी डिब्बा बनने की इच्छा नहीं होती?" इस पर वो बच्चा बोला... "#बाबूजी, मेरे पास पहनने के लिए कोई #शर्ट नहीं है। तो मेरे पीछे वाले बच्चे मुझे कैसे पकड़ेंगे... और मेरे पीछे कौन खड़ा रहेगा....? इसीलिए मैं रोज गार्ड बनकर ही खेल में #हिस्सा लेता हूँ। "ये बोलते समय मुझे उसकी #आँखों में पानी दिखाई दिया। आज वो बच्चा मुझे #जीवन का एक बड़ा #पाठ पढ़ा गया... *अपना जीवन कभी भी #परिपूर्ण नहीं होता। उसमें कोई न कोई #कमी जरुर रहेगी....* वो बच्चा #माँ-बाप से ग़ुस्सा होकर रोते हुए बैठ सकता था। परन्तु ऐसा न करते हुए उसने #परिस्थितियों का समाधान ढूंढा। हम कितना रोते हैं? कभी अपने साँवले रंग के लिए, कभी #छोटे क़द के लिए, कभी पड़ौसी की बडी कार, कभी पड़ोसन के गले का हार, कभी अपने #कम मार्क्स, कभी #अंग्रेज़ी, कभी #पर्सनालिटी, कभी #नौकरी की मार तो कभी धंदे में मार...हमें इससे बाहर आना पड़ता है.... *ये जीवन है... इसे ऐसे ही #जीना पड़ता है।* *चील की ऊँची उड़ान देखकर चिड़िया कभी डिप्रेशन में नहीं आती,* *वो अपने आस्तित्व में मस्त रहती है,* *मगर इंसान, #इंसान की ऊँची उड़ान देखकर बहुत जल्दी चिंता में आ जाते हैं।* *तुलना से बचें और खुश रहें*। *ना किसी से ईर्ष्या , ना किसी से कोई होड़..!!!* *मेरी अपनी हैं मंजिलें , मेरी अपनी दौड़..!!!* *"परिस्थितियां कभी #समस्या नहीं बनती,* *समस्या इस लिए बनती है, क्योंकि हमें उन परिस्थितियों से #लड़ना नहीं आता।"* ¸.•*""*•.¸ ?????

सबसे पहले तो बुराई पर अच्छाई के जीत के पर्व दशहरे की पूर्व संध्या पर #हार्दिक #शुभकामनाएं।। मै अंकित फोगाट राष्ट्रीय जाट सरंक्षण समिती #झुंझुनूं का #अध्यक्ष और #मरुप्रदेश_निर्माण_मोर्चा का #कार्यकर्ता आप सभी को बताना चाहूँगा कि उस #रावण का अंत तो #भगवान श्री रामचंद्र जी ने कर दिया परन्तु आज के #युग में ऐसे अनेक रावण पैदा हो गए है जिनका हमे समय रहते अंत करना होगा। हमें अपने #अधिकारों के लिए संघर्ष करना होगा। मैने पिछले 2 साल में देखा की #मरुसेना एक ऐसा #संग़ठन है जो गरीब #किसान, #मजदुरो, #छात्रहित के हको के लिए बिना किसी #राजनीतिक सोच के हमेशा #सड़क से #संसद तक #संघर्ष करता आया है। मै इनके संघर्ष और विचारो से प्रभावित होकर मैने इस #संघठन को 2 साल पहले ज्वाइन करने का विचार किया था और आज मै मरुसेना के साथ हूँ। मै #मरुसेना की #टीम के सभी #पदाधिकारीयो, #कार्यकर्ताओ के साथ हक की लड़ाई में हमेशा #संघर्षरत रहूँगा। #अंकित_फोगाट #मोबाइल: 8005611527 #जय_मरुसेना

#प्यार से ज्यादा #पैसे का💰💷 #महत्व है दोस्तो... 😉 कभी #सुना है....👂 #लडकियों को👩 #सपने मे #मजदूर👨 दिखा 😂😂😂 #राजकुमार👼 ही #दिखता 👀 है हमेशा...!! 😜😜......chudel khi ki........ 😁😁😁😁😁🔫🔫🔫🔫🔫🔫🔫🔫🔫🔫🔫🔫😈😈😈😈📸📸📸😎😎😎😎😎🕵🕵🕵 Danny ####::

Sayeed Naseem
(@naseemsayeed)

2017-09-22 05:44:01

#खनन एवं #क्रेशर के नियमो पे #सरकार #विचार करती है तो #कोडरमा जिला में #सर्वाधिक #राजस्व देने वाला #उद्योग होगा। :- #सईद #नसीम ================== किसी क्षेत्र की बदहाली दूर करने की बात उठे और उद्योगों का जिक्र न हो, यह मुमकिन नहीं, लेकिन जब कोई (सरकार) कहे कि उद्योग ही उस क्षेत्र की बदहाली का कारण है,तो यह बात हजम करना मुश्किल होगा,पर जिला कोडरमा की ज़मीनी हक़ीक़त कुछ ऐसी ही है, यूं तो जिला कोडरमा के माइका उधोग की गाथाएं एवं रेडियो पे फरमाइश #विश्वविख्यात हैं, लेकिन यहां के मौजूदा क्रेशर उधोग की हालात मरता क्या न करता जैसे हैं, #माइका बन्द होने से जिले में पत्त्थर उधोग ने ही जान फुकी थी, पर जटिल खनन, क्रेशर नियम से पत्थर उद्योग को जैसे सांप सूंघ गया है। क्रेशर उधोग सरकार के जटिल नीतियो के कारण चौपट होकर रह गया है,जिससे जिले के क्रेशर #संचालकों में बेचैनी व्याप्त है। उन्हें अपने कारोबार को बचाने की चिंता सता रही है,किन्तु सरकार ने क्रेशर कारोबार को बचाने के लिए कोई ठोस नीति तैयार नहीं की है, जिससे क्रेशर व् खनन कारोबारियों का वर्तमान सरकार के खिलाफ रोष होना लाजमी है। दूसरी और क्रेशर कारोबार के ठप्प होने से इस उद्योग से जुड़े अन्य कारोबारी भी भुखमरी के कगार पर हैं। जिनके सामान को खरीदने के लिए कोई तैयार नहीं है। ऐसे कारोबारियों में #स्पेयर पार्टस, #टायर विक्रेता, #ट्रांसपोर्टर, पेट्रोल पंप आदि शामिल हैं। इसके अलावा क्रेशर मशीनों पर नियुक्त लेबर भी काम ना होने से अपने घर लौट गये है, जिनकी संख्या कई हजारों में है। जिला कोडरमा क्रेशर का मजदूर बेबसी की जिंदगी जीने को मजबूर है। हाथों को काम नहीं है। घर पर भुखमरी जैसे हालात हैं। बावजूद शासन प्रशासन कोई कदम नहीं उठा रहा है। #अफ़सोस ये सरकार ने अच्छे दिन के सपने का वादा किया था क्या पता था पुराने दिन के भी लाले पड़ जायेंगे।#मजदूर और उसका परिवार एक एक दाने को मोहताज है। वो दिन दूर नहीं जब क्रेशर उधोग के मालिक सम्बंधित व्यसाय को भी ये दिन देखना पड़े, मज़दूर की हालत ये है, उनके हाथों को भरपूर काम नहीं मिल रहा है। नोटबंदी के दौरान जो रकम थी वह भी खर्च हो गई। लंबे समय से बन्द चल रहे क्रेशर, खनन मजदूर पलायन को मजबूर हो गए है, #केंद्र और #राज्य की #भाजपा सरकार चाहें तो निश्चित तौर पर जिला कोडरमा का विकास हो सकता है। बस जरूरत है नीति और नियत बेहतर करने की, मेरा #सईद नसीम मानना है अगर *खनन एवं क्रेशर* के नियमो पे सरकार विचार करती है तो कोडरमा जिला में सर्वाधिक राजस्व देने वाला यह (क्रेशर) उद्योग होगा।

@Kadwaa_Sach
(@kadwaa_sach)

2017-09-20 23:26:51

PLEASE READ full POST in my #fb_page_kadwaa_sach.. IT'S VERY important for all of you to understand the ,key by which they try to manupulate you,(CONFUSED_YOUTH) ACCORDING to them. IN THE NAME OF RELIGION AND CASTE. देश मे कोई भी #kashmir_killings को Justify करने के योग्य नही हो सकता जो 1990 मे हुए... साथ-साथ ये भी बोलूँगा की देश मे 1947 से 2017 तक होने वाले सारे #political_riots और killings को भी कोई Justify करने योग्य नही होना चाहिये.ना मैं वो करने की कोशिश में हू . क्युकी जब भी कभी ऐसा कुछ देश में होता हैं तो उसमे कोई दंगाई / आतंकवादी / नेता नही मरता ,बलकी उसमे मरने वाला एक #मजदूर ,#किसान ,#दुकानदार ,5 महीने का #बच्चा होता है , एक हिन्दू/मुस्लिम नही एक #भाई , एक #बाप मरता है . 650 हिन्दू /मुस्लिम औरतो का नही ,एक बहन और एक माँ , का rape होता है . शुरू कराने वाले AC की हवा में news देख कर हस रहे होते हैं . #बात करे , उस #vedio की , जो एक फेसबुक page में @kadwaa_sach ने देखी.#vedio कुछ ऐसी #highly_professional_editors , #actor ,#writers की help से बनवाई गई है ,की आपको उसे देखते ही एक गुस्सा आये. और गुस्से और नफरत का Use दुनिया के #नाजुक_अमानवीय_मुददे से हटा कर , उस मुददे पर लाना चाहते हैं , ज़िसको आधी से ज्यादा जनता भूलना चाहती है क्युकी वो काफी घिनौना मुद्धा था , ज़िस्से पूरा एक muslim समाज पर गुस्सा आये, और Rohingyas से लोगो की दया भावना को हटा दिया जाए. मुद्धा #kashmiri_पंडितो के साथ हुए 1990 की कतले आम को लेकर है . Anupam_Kher जी जिनको देश और दुनिया आच्छे से जांती है और Fan भी है ,पर अपने आप को #introduce कराते हुए कहते हैं ,की वो एक Kashmiripandit हैं और आगे अपना डर और दर्द vedio मे बाट ते हैं . वो ये बात वह vedio में आकर इसलिये कहने आये है क्युकी आज जो ROHINGYAs के लिये बोल रहे हैं ,Anupam जी को उनसे दिक्कत है क्युकी काष्मिरी पंडितों के लिये तब कोई प्रशाषान या बाकी देश की जनता कुछ नही बोली थी , ऐसा साफ साफ उनका vedio मे कहना है . तो इसका मतलब देश की सामस्यो पर अब सबको बोलना बंद कर देना चाहिये क्युकी 1990 मे कोई कुछ बोला नही . Anupam जी तब लोगो मे जादतिया हुई,पर कोई कुछ नही बोला , आज समय बदला है ,आज युवा के अन्दर #manavta जागी है,आज का युवा #जागा हुआ है , और आज वो #चुप_नही रहता #बोलता है और #सवाल करता है तो उसमे क्या दिक्कत है है? Continued in the FB PAGE....

Sayeed Naseem
(@naseemsayeed)

2017-09-14 02:18:37

#ढिबरा बंद होने से #हज़ारो #मजदूरों के समक्ष #भुखमरी की स्थिति #उत्पन्न हो गई है।:- #सईद #नसीम कोई भी सरकार #नीति बनाती है। जनता का भला हो रोज़गार मिले लेकिन वर्तमान #राज्य सरकार के नये #जनविरोधी आदेश ने हजारो परिवार का भला छोड़िये उनके समक्ष #रोजी रोटी का #संकट पैदा कर दिया। जिससे आम गरीब जनता दहशत में है। उन्हें अपने और अपने परिवारों के भविष्य #अंधकारमय होते दिखने लगा है। वर्ष 2010 में कोडरमा के तत्कालीन डीसी शिवशंकर तिवारी के कार्यकाल में माइका के छोटे स्क्रैप ढिबरा को एवं इसके कारोबार पर सबसे ज्यादा प्रतिबंध लगा। तब यहां के व्यवसायियों का शिष्टमंडल कई बार सरकार के मंत्रियों से मिलने गए, लेकिन #पर्यावरण की दुहाई देकर इसे पूरी तरह अनसुना कर दिया गया था। माइका पर आधारित उद्योग मिटको सरकारी उदासीनता के कारण 2002 से बंद पड़ा है। वर्ष 2003 में बाबूलाल मरांडी की सरकार के दौरान #जेएसएमडीसी द्वारा संचालित माइका खदान बंदरचुआ, पेसरा यूसी, सुग्गी, खलखथंबी और गम्हारो को बंद कर दिया गया। वर्तमान में सभी दल के लोग #माइका उद्योग की बदहाली, जंगलों से ढिबरा चुननेवालों पर पुलिस एवं वन विभाग की रोक के विरुद्ध आवाज उठा रहे हैं।लेकिन दिलचस्प बात है कि जब कांग्रेस, झाविमो राजद के लोग सरकार में थे तब कभी उन्हें इस मुद्दे की याद नहीं आयी।भाजपा तो ज्यादा सरकार में रही और हमेशा जनता की भावना से खिलवाड़ करती आ रही है। माइका उद्योग का अस्तित्व दिनों दिन मिटता जा रहा है और इससे जुड़े इकाई एक के बाद एक बंद होते जा रहे हैं। #माइका उद्योग को #पुनर्जीवित करने का निर्णय वर्तमान सरकार को चुनौती के रूप में लेना चाहिए। अब तक जो भी सरकार केंद्र और राज्य में रही सभी ने यहां के #माइका उद्योग की उपेक्षा की। वर्तमान झारखण्ड सरकार को गरीब मजदूरों की कोई चिंता नहीं है। इनकी #जनविरोधी नीति गरीबो को रोजगार नहीं बेरोजगार बनने हेतु है।वर्तमान में केंद्र और राज्य दोनों जगह बीजेपी की सरकार है वन कानूनों में आवश्यक संसोधन करने की दिशा में पहल करे। या फिर ग्रामीणों को पहले रोजगार की स्थाई व्यवस्था करे। कोडरमा और गिरिडीह जिला में हजारों परिवार की #आजीविका का मुख्य साधन ढिबरा स्क्रैप है। ढिबरा का लोग #उत्खनन नहीं करते हैं, बल्कि इसे बंद खदानों के बाहर जमा किए गए ढेर से चुनकर लाते हैं, सरकार रोजगार के अवसर नहीं पैदा करेंगे,अगर गरीब जनता #कचड़ा में कुछ चुनकर अगर अपनी जिंदगी अगर #बसर करती है तो वो भी सरकार को नागवार गुज़र रही है। #ढिबरा पर किसी तरह का #रोक का बहुजन समाज पार्टी #विरोध करती हैं।

#रिण (नमक उद्योग) #मजदूर #villagebap ➖➖➖➖➖ ↪,#शून्य™●

#मजदूरों_के_बच्चों_को_चार_साल_से_नही_मिली_छात्रवृत्ति। :: ∆ शासन की योजना को नगर पालिका लगा रही पलीता। :: ∆ पढ़ाई छोड़ने के वाद भी स्कालरशिप का इंतजार। :: ∆ नगर पालिका आठ महीनों से खा रही छात्रवृति राशि का ब्याज। :: #रहली--कर्मकार मंडल के अंतर्गत आने वाले श्रमिको के स्कूलीय छात्र,छात्राओ को शासन के द्वारा छात्रवृत्ति दिए जाने का प्रावधान है।गरीब मजदूरों के बच्चों की आर्थिक मदद करने की मंशा पर नगर पालिका रहली के द्वारा ही पानी फेरा जा रहा है। रहली नगर पालिका क्षेत्र के सैकड़ों पात्र बच्चो को वर्ष 13-14 से कर्मकार मंडल की छात्रवृत्ति नही मिली है।कई बच्चे तो पढाई छोड़ कर घर बैठ चुके है पर उन्हें सरकारी मदद का आज भी इंतजार है।नगर पालिका की मनमानी के कारण सैकड़ो छात्र लाभ से बंचित है।शासन के द्वारा आठ माह पूर्व नगर पालिका को राशि का आबंटन कर दिया है परंतु नगर पालिका द्वारा बच्चो के बैंक खातों में राशि नही डाली जा रही है।आठ महीनों से नगर पालिका उक्त राशि का ब्याज खा रही है। ∆ चार साल से चकरघिन्नी-- कर्मकार मंडल की मामूली सी स्कालरशिप के लिए मजदूर अविभावकों के साथ उनके पुत्र-पुत्री भी चकरघिन्नी की तरह घूम रहे हैं।पहले तो मजदूरों ने अपना काम छोड़ कर मजदूरी कार्ड बनवाने नगर पालिका के चक्कर काटे उसके वाद ठेकेदार के हाथ पैर जोड़ कर ले देकर मजदूरी चढ़वाई क्योक्स बेक में समय और पैसे खर्च कर जीरो का खाता खुलवाया इसके वाद स्कूल में आवेदन करने बच्चो ने मसक्कत की और इतने करने के वाद चार साल से क्योक्स के चक्कर काट रहे हैं जहाँ से एक ही जबाब मिलता है कि अभी पैसे नही आये।नगर पालिका की मनमानी के कारण सरकारी योजना मजाक बन कर रह गई है। इस मामले में कई बार नगर पालिका के जिम्मेदार अधिकारियों से चर्चा की गई पर विगत कई महीनों से सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा है।

मतभेद वालो से सावधान । #खानबाबा #मजदूर #मतभेद #वो_भी_ख़ानदानी #भाई_भाई #natyansh #udaipur #lakecity #theatre #artist #performers #khanbaba #majdur

Kranti Gaurav
(@krantigaurav)

2017-09-02 21:12:16

वाह रे #पैसा , तेरे कितने #नाम !!! मंदिर मे दिया जाये तो #चढ़ावा स्कुल में #फ़ीस शादी में दो तो #दहेज तलाक देने पर #गुजाराभत्ता आप किसी को देते हो तो #कर्ज अदालत में #जुर्माना सरकार लेती है तो #कर सेवानिवृत्त होने पे #पेंशन अपहर्ताओ के लिएं #फिरौती होटल में सेवा के लिए #टिप बैंक से उधार लो तो #ऋण श्रमिकों के लिए #वेतन मातहत कर्मियों के लिए #मजदूरी अवैध रूप से प्राप्त सेवा #रिश्वत

जो #मौत से #न#डरता था वो #बच्चो से #डर गया #जब #एक #रात #खाली हाथ #मजदूर #वापस #घर गया... ☆☆☆(Samer)☆☆☆

RaThore RaZput
(@chasing_boy)

2017-08-26 01:53:32

जिंदगी #मजदूरी करते हुई गुजर रही हैं 🛣, और लोग 👨‍ #सेठ 😎 कहकर #ताने मार रहे हैं 😈

#प्यार से ज्यादा #पैसे का💰💷 #महत्व है दोस्तो... 😉 कभी #सुना है....👂 #लडकियों को👩 #सपने मे #मजदूर👨 दिखा 😂😂😂 #राजकुमार👼 ही #दिखता 👀 है हमेशा...!! 😜😜

βïşhηøï
(@puniatrend)

2017-08-14 18:11:38

#independentday #15aug. #आजादी मुबारक हो पर क्या #सच में हमे इसे #आजादी मान सकते हैं। जहाँ #बच्चों को #मजदूर बनाके काम करवाया जाता हैं । जहाँ आज भी #औरत को सिर्फ #घर #घृस्थि संभालने योग्य समझा जाता हैं। #आखिर कब होगा #सह#शब्दों मे ये #देश #आजाद . @bishnoiforce @puniatrend . #keepfollowing #keepsupporting #keeploving #keepsharing #bishnoiforce #bishnoi #bishnoisamaj #bishnoism #bishnoibash #rajsthan #haryana #punjab #india #world #20ninerulers